लखनऊ: नरेश के खिलाफ लामबंद हुई भाजपा की शीर्ष महिला नेता

Posted at : 2018-03-13 04:40:30

लखनऊ :समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रहे नरेश अग्रवाल के भाजपा में एंट्री होते ही उनके विवादित बयां पर भाजपा खेमे में अंदरूनी रूप से बगावत शुरू हो गयी है ,हालाँकि खुलकर कोई विरोध नहीं कर पा रहा है. लेकिन गुपचुप तरीके से सभी विरोध कर रहे है। नरेश के जया बच्चन पर दिए गए अशोभनीय बयान को लेकर भाजपा की शीर्ष नेता सुषमा स्वराज ,स्मृति ईरानी और रूप गांगुली ने ट्वीटर पर खुलकर बचाव करते हुए नरेश का विरोध किया। ईरानी ने तो यहाँ तक कह दिया कि महिलाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.और महिलाओं के सम्मान के खातिर हम पार्टी विचारधारा से हटकर इसका विरोध करेगें। सुषमा के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और बंगाल में भाजपा की कद्दावर नेता रूपा गांगुली ने भी नरेश अग्रवाल के बयान पर ऐतराज जताते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की है। बीजेपी की कद्दावर नेता स्मृति ईरानी ने twitter पर लिखा कि जब भी महिलाओं के सम्मान को चुनौती दी जाएगी, तब विचारधारा की लड़ाई छोड़ सभी को एकजुट होना चाहिए। स्मृति ईरानी ने संजय निरूपम द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर पांच साल के चल रहे केस का जिक्र करते हुए कहा कि किसी भी महिला को अपमानित करने वाले का वो हमेशा विरोध करेंगी। रूपा गांगुली स्मृति के रूपा गांगुली ने भी tweet किया कि वो नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा करती हैं, उन्होंने कहा कि मैं जया बच्चन जी का सम्मान करती हूं, फिल्म इंडस्ट्री में जया बच्चन के योगदान पर मुझे फक्र है, उन्होंने कहा यह बीजेपी की लीडरशिप नहीं है। जया बच्चन पर दिया था विवादित बयान दरअसल मीडिया के सामने भाजपा में शामिल होने की घोषणा करते हुए नरेश अग्रवाल ने कहा था कि सपा ने एक डांस करने वाली (जया बच्चन) के लिए उनका टिकट काट दिया , फिल्मों में काम करने वाली से मेरी हैसियत कम कर दी गई। उनके नाम पर हमारा टिकट काटा गया, मैंने इसको भी बहुत उचित नहीं समझा। अग्रवाल ने कहा था कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूपी के सीएम आदित्यनाथ से प्रभावित हैं। अग्रवाल ने ये भी कहा था कि वो मुलायम सिंह और रामगोपाल का साथ कभी नहीं छोड़ते लेकिन आज पार्टी को गठबंधन के नाम पर खत्म किया जा रहा है खिलाफ जो भी जायेगा उसका पार्टी विचारधारा से हटकर विरोध किया जायेगा।