लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को यहां हुई कैबिनेट की बैठक में 11 प्रस्तावों को मूंजरी प्रदान की है। बैठक में बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में पाइप लाइन से घर-घर पेयजल पहुंचाने के लिए प्रथम चरण में 13 परियोजनाओं को मंजूरी दे दी गई। नौ जिलों के लिए कुल 545 डीपीआर तैयार की गई हैं। इनकी कुल लागत 15722.89 करोड़ रुपये अनुमानित है। इन सभी जिलों के गांवों में पानी पहुंचाने के लिए कार्यदायी फर्मों ने जो डीपीआर तैयार की हैं, उनमें से 200 करोड़ रुपये से अधिक की 37 परियोजनाओं को व्यय वित्त समिति का अनुमोदन मिल चुका है। इनमें से 13 परियोजनाओं के एस्टीमेट को कैबिनेट ने अनुमोदित कर दिया है।