कन्नौज: आंगनवाड़ी में रखरखाव की कमी पर डीएम खफा

Posted at : 2019-10-09 06:16:55

सीडीपीओ से जवाब तलब बृजेश चतुर्वेदी/कन्नौज। आँगनवाडी केन्द्रों से संबंधित अभिलेख केन्द्र पर ही व्यवस्थित रूप से सुरक्षित रखे जाये। अंकन की कार्यवाही नियमित रूप से करते हुये छात्र/छात्राओं को गुणवत्तापरक शिक्षा देने के साथ ही साथ विद्यालय की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। यह निर्देश आज जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने प्राथमिक विद्यालय जलालपुर पंचमा एंव आंगनवाड़ी केन्द्र का औचक निरीक्षण करते हुये उपस्थित अध्यापक एंव कर्मचारियों को दिये। उन्होनें आंगनवाड़ी केन्द्र के निरीक्षण के दौरान सहायिका आरती देवी से संबंधित अभिलेख मांगे, जिस पर कोई भी अभिलेख तथा कुसुमलता कटियार आंगनवाड़ी कार्यकत्री के अतिरिक्त एक भी बच्चा आंगनवाड़ी केन्द्र पर उपस्थित न पाये जाने की दशा में सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुये सीडीपीओ से स्पष्टीकरण मांगा तथा अभिलेखों के संबंध में डीपीओ कड़े निर्देश देते हुये कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्रों में समय से पोषाहार वितरित किया जाये तथा बच्चों की संख्या के अनुरूप पोषाहार वितरित कर अभिलेखों में शत-प्रतिशत स्पष्ट अंकन की कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाये। जिलाधिकारी ने विद्यालय के कक्षा 1, 2 तथा 4,5,6 के बच्चों से मिड-डे मिल के अन्तर्गत दिये जाने वाले भोजन के संबंध में जानकारी की, जिसमें बच्चों द्वारा समय से भोजन प्राप्त होने की बात बतायी गई। जिलाधिकारी ने ड्रेस के संबंध में भी जानकारी की, जिसमें अध्यापिका तुलसी द्वारा बताया गया कि छात्र/छात्राओं को बैग, जूता, मोजा आदि के अतिरिक्त एक ही ड्रेस उपलब्ध करायी गई है। इस पर जिलाधिकारी ने बच्चों को दूसरी ड्रेस उपलब्ध न होने की दशा में खण्ड शिक्षा अधिकारी तथा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के भी निर्देश दिये। श्री कुमार ने कहा कि मिड-डे मिल के अन्तर्गत दिये जाने वाले भोजन में मीनू का विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होनें भोजन पकाने वाले स्थल का भी निरीक्षण किया, जिसमें पाया गया कि भोजन लकड़ी जलाकर चूल्हे के माध्यम से बनाया जाता है। इस पर जिलाधिकारी ने गैस सिलेंडर के संबंध में जानकारी की, जिसमें बताया गया कि लगभग 3 वर्ष पूर्व गैस सिलेंडर चोरी होने की दशा में लकड़ी के चूल्हें पर खाना पकाया जाता है। इस पर श्री कुमार ने तत्काल सिलेंडर की व्यवस्था कराने के निर्देश देते हुये कहा कि भोजन पकाने में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये तथा मीनू के अनुसार बच्चों को दूध भी दिया जाये।