लखनऊ। सेना पर राजनीति कर जवानों की शहादत का अपमान कर रही है भाजपा: अखिलेश

Posted at : 2019-04-14 08:11:28

अखिलेश ने वीर सम्मान यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वह फौज को राजनीति में घसीट कर जवानों की की सहादत और फ ौजियों का अपमान कर रही है। श्री यादव ने कहा कि हमारे फ ौजी कड़ाके की सर्दी और भीषण गर्मी में जान की बाजी लगाकर सीमाओं की सुरक्षा करते हैं। फ ौजी देश की सुरक्षा के लिए अपना जान न्यौछावर करने को तैयार रहता हैए। लेकिन भाजपा के नेता प्रचार कर रहे हैं कि भाजपा है तो सीमाएं सुरक्षित हैं। जबकि समाजवादियों का मानना है कि फ ौज है तो सीमाएं सुरक्षित है। श्री यादव ने कहा कि पार्टियां तो सरकार में आती जाती रहती है। लेकिन फ ौज हमेशा सीमा और देश की सुरक्षा करती रहती है। सपा प्रदेश मुख्यालय पर बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम और वीर सम्मान यात्रा को रवाना करने के अवसर पर श्री यादव ने कहा कि वीर सम्मान यात्रा में रिटायर्ड फ ौजी लोग जा रहे हैं, जो जनता को अपने मन की बात और सच्चाई बताएंगे। श्री यादव ने कहा कि जनता के बीच बहुत सवाल है। सम्मान यात्रा के साथ जाने वाले फ ौजी जनता के सवालों का जवाब देंगे, भाजपा की गलत नीतियों का पर्दाफ ाश करेंगे। श्री यादव ने कहा कि आज पूरा देश बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर की जयंती मना रहा है। बाबा साहब को सबसे ज्यादा सम्मान बसपा और सपा देती हैं। बाबा साहब ने देश को एक ऐसा संविधान दिया है, जिसमें किसी के कोई साथ भेदभाव नहीं है। सपा और बसपा बाबा साहब के बताये रास्ते पर चल रही है। संविधान ने हमें एकता और भाईचारा के साथ रहने का संदेश दिया है। लोग इसी रास्ते पर चलेंगे तो देश मजबूत होगा। श्री यादव ने कहा कि संविधान ने लोगों को जो अधिकार दिया है। उसको बचाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। आज देश के संविधान पर खतरा है। आजादी के इतने सालों बाद भी देश के गरीबों और किसानों को जो सम्मान मिलना चाहिए था, नहीं मिला। इसीलिए हमने महागठबंधन बनाया है। महागठबंधन देश के दबे, कुचले, दलितों, पिछड़ों, किसानों को सम्मान दिलाएगा। जो लोग संविधान बचाना चाहते हैं, उन्हें महागठबंधन ने एक साथ आने का मौका दिया है। समाज का हर वर्ग गठबंधन के साथ जुड़ रहा है। श्री यादव ने कहा कि सहारनपुर के बाद बदायूं में महागठबंधन की रैली बहुत ऐतिहासिक रही।