नई दिल्ली-सरकारी रिकॉर्ड में ‘शहीद’ नहीं होते CRPF और BSF के जवान, जानिए चौंकाने वाली हकीकत

Posted at : 2019-02-15 06:09:20

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद 42 सीआरपीएफ जवानों के लिए हमदर्दी बयां करने का सिलसिला जारी है। यहां तक कि पीएम और आला हुक्काम उन्हें शहीद बताने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। जबकि हकीकत ये है कि सरकारी रिकॉर्ड में उन्हें शहीद का दर्जा ही प्राप्त नहीं है। आपको जानकर हैरानी होगी कि सेना के शहीदों की तरह इन्हें सरकारी लाभ भी हासिल नहीं होता है। अर्द्धसैनिक बलों के शहीद जवानों के परिजनों को सेना के मुकाबले मुआवजे और दूसरी सुविधाओं से वंचित रखा गया है। हालांकि इस भेदभाव को लेकर कई बार चर्चा हो चुकी है। जबकि इसे दुरुस्त करने के लिए कोई पहल अब तक नहीं हो पाई है। आम बोलचाल में प्रधानमंत्री से लेकर मंत्री और आम आदमी इन्हें शहीद बताने से गुरेज नहीं करते। वहीं वास्तविकता इससे बिल्कुल परे है।