नई दिल्ली : ये होते हैं मुख्य चुनाव आयुक्त के अधिकार

Posted at : 2019-03-10 06:16:24

नई दिल्ली : लोकसभा चुनावों के लिए तारीखों का एलान हो चुका है. मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि सात चर्णों में होने वाले चुनाव की मतगणना 23 मई को होगी. यह चुनाव आयुक्त के नेतृत्व वाले आयोग का ही काम है कि चुनाव निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से हों. आपको बताते हैं चुनाव आयुक्त के बारे में अधिक जानकारी. राष्ट्रपति करते हैं नियुक्ति चुनाव लोकतांत्रिक तरीके से हो इसकी मुख्य जिम्मेदारी चुनाव आयुक्त की होती है. मुख्य चुनाव आयुक्त की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति करते हैं. लोकतंत्र के महापर्व को आयोजित कराने जैसे महत्वपूर्ण काम को निभाने का दारोमदार चुनाव आयुक्त पर होता है. चुनाव आयुक्त का रूतबा भी किसी से कम नहीं होता है. खास बात है कि देश के लोकतांत्रिक पर्व को आयोजित करने वाले चुनाव आयुक्त का वेतन देश की सुप्रीम कोर्ट के जज के बराबर होता है. यह वेतन उन्हें चुनाव आयोग अधिनियम 1991 की धारा 3 के तहत मिलता है. 6 साल का है कार्यकाल