कन्नौज: जनगणना की तरह अब पशुओं की भी होगी गणना: डीएम

Posted at : 2019-01-11 07:55:46

बृजेश चतुर्वेदी/कन्नौज। आवारा जानवर मिलने पर मालिकों के खिलाफ जुर्माना के साथ ही एफआईआर भी होगी दर्ज। अस्थायी गोवंश आश्रय के आस-पास चारागाह हेतु स्थलों को चिन्हित किया जाये। अभियान चलाकर गांव के गाय, भैस आदि जानवरों के मालिकों सहित सूची दो दिन के अन्दर प्रस्तुत की जाये। उक्त निर्देश आज जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद में अस्थायी गोवंश आश्रय के संबंध में की जा रही कार्यवाही की गहन समीक्षा करते हुये संबंधित अधिकारियों को दिये। उन्होनें निर्देशित करते हुये कहा कि अस्थायी गोवंश आश्रय में आने वाले जानवरों के चारा पानी एंव छाया आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होनें सभी खण्ड विकास अधिकारी एवं एडीओ को निर्देशित करते हुये कहा कि गोवंश आश्रय हेतु प्रत्येक ब्लाकों में 4 से 5 जगहों को चिन्हित किया जाये। उन्होनें यह भी कहा कि कुछ अधिकारियों द्वारा इस संबंध कार्यवाही नही की जा रही है, जिससे पशु आवारा दिखाई पड़े रहे है। इस पर सभी अधिकारी व्यक्तिगत रूचि लेकर कार्यवाही सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि सचिव लेखपाल आदि के माध्यम से चिन्हित कर जियो टैगिंग की भी कार्यवाही की जाये तथा यह भी सुनिश्चित किया जाये कि गांव के कितने लोग ऐसे है जो अपने पालतू जानवरों का दूध निकाल कर आवारा छोड़ देते है। इसकी भी सूची बनाई जाये, जिससे औचक सत्यापन के दौरान उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा सके। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि पशु चिकित्साधिकारियों द्वारा जिन दुधारू पशुओं के टीकाकरण की कार्यवाही की गई है। उन्होनें अस्थायी गोवंश आश्रय हेतु आज जसपुरापुर सरैया में गौशाला निर्माण हेतु चिन्हित स्थल का भी निरीक्षण करते हुये आवश्यक निर्देश दिये, कि आश्रय में गाय एंव सांड के रखने के लिये अलग-अलग व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।